महिला क्रिकेट : मिताली का नाबाद अर्धशतक, भारत ने इंग्लैंड को 4 विकेट से हराया

नई दिल्ली। भारतीय महिला टीम ने कप्तान मिताली राज (Mitali Raj) की अर्धशकीय पारी की बदौलत इंग्लैंड की टीम को 3 वनडे मैचों की सीरीज के आखिरी मैच में 4 विकेट से मात दी। मिताली ने 8 चौकों मदद से 86 गेंदों में 75 रन की कप्तानी पारी खेली। भारत की ओपनर बल्लेबाज शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना ने टीम को अच्छी शुरुआत देने की कोशिश की। भारत का पहला विकेट 46 के स्कोर पर गिरा। शेफाली 19 रन बनाकर आउट हुईं। इसके बाद मंधाना ने पारी को संभाला और 49 रन बनाकर आउट हुईं। वह सिर्फ एक रन से अर्धशतक लगाने से चुक गईं। हरमनप्रीत ने (16) , दीप्ति शर्मा (18) और स्नेहा राणा (24) ने भारत की जीत में अपना योगदान दिया।

यह खबर भी पढ़ें:—धवन के लिए श्रीलंका का दौरा अहम, लक्ष्मण ने बताया कारण

इंग्लैंड को 219 रनों पर रोका
इससे पहले दीप्ति शर्मा (3/47) के नेतृत्व में भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारतीय महिला टीम ने न्यू रोड मैदान पर खेले जा रहे तीसरे और अंतिम वनडे मुकाबले में इंग्लैंड को 219 रनों पर रोक दिया। बारिश के कारण मुकाबला देर से शुरू हुआ और मैच को 47 ओवर कराने का फैसला लिया गया। भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी और इंग्लैंड को 47 ओवर में 219 रन पर ऑलआउट कर दिया। इंग्लैंड की ओर से नताली स्काइवर ने 59 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से सर्वाधिक 49 रन बनाए। भारत की तरफ से दीप्ति के अलावा पूनम यादव, स्नेह राणा, हरमनप्रीत कौर, शिखा पांडे और झूलन गोस्वामी को एक-एक विकेट मिला।

यह खबर भी पढ़ें:—BCCI ने घरेलू सत्र के शेड्यूल की घोषणा, खेले जाएंगे कुल 2127 मैच

अच्छी नहीं रही इंग्लैंड की शुरुआत
इंग्लैंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही उसने टैमी ब्यूमोंट (0) का विकेट जल्द ही गंवा दिया। इसके बाद लॉरेन विनफिल्ड हिल और कप्तान हीदर नाइट ने पारी को संभालने की कोशिश की। हालांकि, विनफिल्ड (36) रन बनाकर आउट हो गईं। इसके बाद नाइट और नताली ने जोड़ी जमाई लेकिन नाइट अर्धशतक बनाने से पहले ही आउट हो गईं। उन्होंने 71 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 46 रन बनाए। उनके आउट होते ही इंग्लैंड की पारी लडखड़़ा गई। हालांकि, नताली ने इसके बाद पारी संभाली लेकिन वह भी ज्यादा कुछ नहीं कर सकीं। इंग्लैंड की पारी में सोफिया डंक्ली ने 28 और एमी एलेन जोन्स ने 17 रन बनाए जबकि कैट क्रॉस 16 रन बनाकर नाबाद रहीं। अन्य कोई बल्लेबाज दहाई अंक तक नहीं पहुंच सका।



from https://ift.tt/3yhCxik

Post a Comment

0 Comments