Subscribe Us

Badminton: कोरोना की वजह से इंडिया ओपन टूर्नामेंट स्थगित

देेष में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में आगामी कई इवेंट्स कैंसल हो रहे हैं। राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही हैं। ऐसे में कोरोना की वर्तमान स्थिति को देखते हुए आगामी इंडिया ओपन सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। भारतीय बैडमिंटन संघ के महासचिव अजय कुमार सिंघानिया ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी इसकी जानकारी दी। बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली में लॉकडाउन भी लगा दिया गया है।

टूर्नामेंट आयोजित करना सही नहीं
वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिंघानिया ने कहा कि दिल्ली में 26 अप्रेल तक के लिए लॉकडाउन लग गया है। ऐसे में आगे स्थिति क्या होगा, इसका किसी को पता नहीं। फिलहाल हालात गंभीर हैं और इसी को देखते हुए भारतीय बैडमिंटन संघ ने सभी साझेदारों से इस बारे में बात की और इस नतीजे पर पहुंचे कि वर्तमान हालातों को देखते हुए टूर्नामेंट को आयोजित करना सही नहीं रहेगा। वहीं विश्व बैडमिंटन महासंघ ने भी एक बयान जारी कर बताया कि भारतीय बैडमिंटन संघ ने 11 से 16 मई तक होने वाले इंडिया ओपन 2021 को स्थगित कर दिया है।

यह भी पढ़ें- Asia-Oceania Judo Championships: दो खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव, भारतीय टीम ने क्वालीफायर से नाम लिया वापस

टोक्यो ओलंपिक क्वालीफिकेषन का हिस्सा था टूर्नामेंट
साथ ही विष्व बैडमिंटन महासंघ ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के हालात के हालात को देखते हुए टूर्नामेंट को स्थगित करने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं बचा। बता दें कि इंडिया ओपन टूर्नामेंट, टोक्यो ओलंपिक के क्वालीफिकेशन का हिस्सा था। इस टूर्नामेंट में 228 खिलाड़ियों की प्रविष्टियां मिली थीं। वहीं कोच, सहयोगी स्टाफ और अधिकारियों सहित करीब 300 लोग इस टूर्नामेंट में एकत्रित होते। बता दें कि इंडिया ओपन का पिछला चरण भी रद्द करना पड़ा था।

यह भी पढ़ें- ज्वाला गुट्टा और अभिनेता विष्णु जल्द करेंगे शादी... फिल्म की प्री रिलीज के दौरान की पुष्टि

2017 में सिंधु ने जीता था खिताब
बता दें कि पिछले साल भी कोरोना की वजह से इंडिया ओपन टूर्नामेंट को स्थगित कर दिया गया था। वहीं भारत की ओर से महिला वर्ग में साइना नेहवाल दो बार यह टूर्नामेंट जीत चैंपियन बन चुकी हैं। वहीं अंतिम बार पीवी सिंधु नेे साल 2017 में यह चैंपियनषिप जीती थी। वहीं पुरुष वर्ग की बात करें तो किदांबी श्रीकांत और प्रकाश पादुकोण यह टाइटल जीत चुके हैं।



from https://ift.tt/3dxG4Bs

Post a Comment

0 Comments